सनातन धर्म संस्कृति क्या है ?

सबसे पुरातन प्रथम वैश्विक धर्म संस्कृति, वेद आधारित सनातन धर्म संस्कृति के वास्तविक स्वरुप को जानना समझना और उसको जीवन में लाकर सम्पूर्ण समाज, राष्ट्र एवं विश्व को पुन: स्वर्गीय वातावरण मय बनाना |

Learn More

ऋषि,संत,तपस्वी व योगी की सहायता

सनातन धर्म संस्कृति के रक्षक , पोषक, एवं विकासक ऋषि, संत, तपस्वी एम योगीयो की हर संभव सहयोग, सहायता एवं साधना की उचित व्यवस्था बनाना आदि |

Learn More

गतिविधियाँ एवं सेवाएं

  • सनातन धर्म संस्कृति के प्रति जन चेतना ,जागरूकता फैलाना |
  • स्कुल, कालेज, विश्वविद्यालय आदि  की स्थापना करना |
  • योग , अध्यात्म एवं संस्कृति की प्रचार प्रसार |
Learn More

जाने , समझे  एवं  अमल करे

वैदिक सनातन धर्म संस्कृति जिन्हें समस्त विद्वत समाज एक स्वर में सबसे प्राचीन पुरातन धर्म मानते है जिसका मुख्य आधार वेद (जिसका शाब्दिक अर्थ है ज्ञान ) को मानते है जो अपौरुषेय है अर्थात जिनकी रचना किसी मनुष्य ने नही किये है बल्कि वे अक्षय ज्ञान भंडार आदि काल से विश्व ब्रह्माण्ड में विद्यमान रहने वाले है जिसे द्रष्टा ऋषियों ने साक्षात्कार कर जन कल्याण हेतु उपदेश किये है |

सनातन धर्म रूप इन वैदिक वांग्मय में जीवन , कर्म एवं मोक्ष पर्यंत तक के समस्त आवश्यक ज्ञान विज्ञानं का वर्णन है| जिनके विधि पूर्वक स्वाध्याय, चिंतन, मनन एवं जीवन में आचरण में धारण करने से सम्पूर्ण जीवन का कायाकल्प हो , जीवन धन्य हो सकता है |

swami prakash

सदस्य बने

तुरंत निशुल्क सदस्य बने और अपने सनातन धर्म संस्कृति के रक्षा में भागीदार बने !